Prabhat Chingari
अन्तर्राष्ट्रीयअपराधउत्तराखंडखेल–जगतधर्म–संस्कृतिमनोरंजनराजनीतीराष्ट्रीयव्यापार

यूनिवर्सिटी में पदस्थ कर्मचारियों ने 2 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की दी चेतावनी, परीक्षाएं होंगी प्रभावित | Employees posted in the university warned to go on indefinite strike from June 2, examinations will be affected

Hindi NewsLocalMpJabalpurEmployees Posted In The University Warned To Go On Indefinite Strike From June 2, Examinations Will Be Affected

जबलपुर13 मिनट पहले

कॉपी लिंक

चुनावी साल में सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रहीं है, अपनी मांगों को लेकर कर्मचारी लगातार शिवराज सरकार को घेर रहें है, और इसी क्रम में अब विश्वविद्यालय में पदस्थ कर्मचारियों ने 9 सूत्रीय मांगों को लेकर सरकार को चेतावनी दी है कि अगर 1 जून तक सरकार ने ध्यान नही दिया तो 2 जून से समूचे मध्यप्रदेश में तमाम कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे, इससे अगर छात्रों की परीक्षा प्रभावित होती है जिम्मेदारी सरकार और विश्वविद्यालय प्रबंधन की होगी। हालांकि विश्वविद्यालय के अधिकारी कर्मचारियों से लगातार संपर्क कर रहें है कि वह अपनी हड़ताल वापस ले।

मध्यप्रदेश की 14 यूनिवर्सिटी सहित जबलपुर रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में पदस्थ करीब साढ़े पांच सौ कर्मचारी हड़ताल पर है, इनके हड़ताल पर जाने से ना सिर्फ कार्यालय के काम प्रभावित हो रहें है बल्कि परीक्षा में भी परेशानी हो रहीं है। इसके अलावा दूसरे जिले से आने वाले छात्र भी डिग्री, मार्कशीट लिए बिना जा रहें है। हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों की 9 सूत्रीय मांगों में सातवें वेतनमान, पेंशन और डीए का भुगतान, स्थायी कर्मचारियों को नियमित करना, कुलसचिव के पद पर यूनिवर्सिटी में सेवा कर रहें अधिकारियों को पदोन्नति दी जाए। कर्मचारी संघ के अध्यक्ष प्रेम पुरोहित का कहना है कि हम अपनी मांगों को लेकर लंबे समय से आंदोलनरत है पर सरकार का इस और ध्यान नही जा रहा है।

हड़ताल पर बैठे नाराज कर्मचारी

हड़ताल पर बैठे नाराज कर्मचारी

कर्मचारी नेता प्रेम पुरोहित ने सरकार को अंतिम चेतावनी दी है कि अगर हमारी मांगों पर 1जून तक सरकार ने ध्यान नही दिया तो ना चाहते हुए भी 2 जून से अनिश्चिकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे, इससे अगर परीक्षा प्रभावित होती है, छात्र परेशान होते है तो इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। विश्वविद्यालय में मध्यप्रदेश विश्वविद्यालयीन कर्मचारी महासंघ और एमपी विश्वविद्यालय पेंशनर्स ऐसोसिएशन के संयुक्त तत्वाधान में 17वें दिन भी आंदोलन जारी रहा।

17 दिनों से कर्मचारियों की हड़ताल को लेकर विश्वविद्यालय प्रबंधन भी परेशान है। कुलसचिव डॉ दीपेश मिश्रा का कहना है कि निश्वित रूप से कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से परीक्षा और कार्यालय के काम प्रभावित हो रहें है, कर्मचारियों ने प्रति दिन एक-एक घंटे अपनी हड़ताल का समय बढ़ाते गए और अब 2 जून से पूरी तरह से काम बंद हो जाएगा तो विश्वविद्यालय का काम पूरी तरह से प्रभावित होगा, हालांकि हम वैकल्पिक व्यवस्था कर रहें है।

इन मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे हुए हैं कर्मचारी

इन मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे हुए हैं कर्मचारी

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में इन दिनों बीकॉम, बीएससी, बीबीए, बीए की परीक्षा चल रही है जिसमें की30,000 से अधिक छात्र शामिल हो रहे हैं, ऐसे में अगर यूनिवर्सिटी में पदस्थ कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो निश्चित रूप से परीक्षाएं तो प्रभावित होंगी इसके अलावा रिजल्ट आने में भी लेटलतीफी हो सकती है। बहरहाल अब देखना यह होगा कि नाराज कर्मचारियों को सरकार किस तरह से मनाती है।

खबरें और भी हैं…

Related posts

सीबीएसई ने देहरादून रीजनल के 10 स्कूलों की दसवीं और बारहवीं की मान्यता खत्म कर दी है

prabhatchingari

अगस्त्यमुनि बेड़ूबगड़ बाईपास निर्माण को लेकर व्यापारियों का प्रदर्शन*

prabhatchingari

कश्मीर सोनमार्ग में देवाल की सरोजनी कोटेडी नें स्नो शू में जीता पहला स्वर्ण पदक

prabhatchingari

चमोली पुलिस ने चेकिंग के दौरान अंग्रेजी शराब के साथ ने दो अभियुक्तों को किया गिरफ्तार*

prabhatchingari

मुर्शिदाबाद की 47 वर्ष महिला का स्वास्थ्य साथी के तहत जन्मजात हृदय विसंगति का इलाज किया जाता है

prabhatchingari

जोशीमठ के आपदा प्रभावित बोले, अपनी जमीन छोड़कर नहीं जाएंगे बाहर ,विकल्प पत्र को बताया आधा अधूरा

prabhatchingari

Leave a Comment