Prabhat Chingari
उत्तराखंड

भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पन्त के 136 वें जन्म दिवस समारोह कार्यक्रम में प्रतिभाग करते कृषि मंत्री गणेश जोशी।*

Advertisement

देहरादून, प्रदेश के कृषि मंत्री गणेश जोशी ने आज देहरादून संस्कृति विभाग के प्रेक्षागृह में भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पन्त के 136 वें जन्म दिवस समारोह कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कहा उत्तराखंड को जैविक खेती के उत्पादन में चौथी बार प्रथम पुरुष्कार मिला है। यह बात उन्होंने भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पन्त के 136 वें जन्म दिवस समारोह में कही।
संस्कृति विभाग के प्रेक्षागृह में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उत्तराखंड पूर्व मुख्यमंत्री एवं महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने समारोह का शुभारंभ भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पन्त को श्रद्धांजलि अर्पित कर व दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम में राज्य महिला आयोग अध्यक्ष कुसुम कंडवाल किसान पद्मश्री प्रेम चंद्र शर्मा भी उपस्थित रहे। इस अवसर पर भगत सिंह कोश्यारी ने पंडित गोविंद बल्लभ पन्त के जीवन पर प्रकाश डाला और उनके पद चिन्हों पर चलने का आव्हान किया।
कार्यक्रम में कृषि मंत्री गणेश जोशी ने अपने सम्बोधन में भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत का उनके जन्म दिवस पर भावपूर्ण स्मरण किया है। उन्होंने कहा भारत रत्न स्व. पंत एक महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, देशभक्त, समाजसेवी तथा कुशल प्रशासक थे। उन्होंने कहा कि पंडित पंत ने देश को नई दिशा देने के साथ ही कुली बेगार प्रथा तथा जमींदारी उन्मूलन के लिए निर्णायक संघर्ष कर समाज में व्याप्त बुराईयों को दूर करने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि हिंदी को राजभाषा के रूप में प्रतिष्ठित कराने तथा उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री एवं देश के गृहमंत्री रहते हुए आधुनिक भारत के निर्माण में भी उनकी महती भूमिका रही। उनका संघर्षशील एवं प्रेरणादायी नेतृत्व देशवासियों के लिए सदा प्रेरणा का स्रोत रहेगा। मंत्री जोशी ने कहा कि हरित क्रांति का अग्रदूत माना जाने वाला यह पंतनगर विश्वविद्यालय पंडित गोविन्द बल्लभ जी को समर्पित है। पंतनगर विश्वविद्यालय की स्थापना में उन्होंने अमूल्य योगदान दिया है।
मंत्री ने कहा आज उत्तरखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में कृषि के क्षेत्र में राज्य भर में अनेकों जन कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है। उन्होंने कहा सेब काश्तकारों को उच्च गुणवत्ता युक्त पौध उपल्ब्ध कराया जा रहा है। जहां पिछले वर्ष की तुलना में सेब के 12 लाख से अधिक पौधे लगाए गए है। उन्होंने कहा शीघ्र ही रुफ टॉप गार्डनिंग योजना का भी शुभारम्भ किया जाएगा। मंत्री ने कहा वर्ष 2025 तक कृषि एवं उद्यान के उत्पाद को दोगुना किया जाएगा। इस दिशा में राज्य सरकार निरंतर प्रयासरत है। मंत्री ने कहा आज जो भारत अन्य देशों में खाद्यान्न को निर्यात कर रहा है, उसका श्रेय पंडित गोविंद बल्लभ पंत को जाता है। उन्होने विश्वास जताते हुए कहा कि अपने निरंतर योगदान से उत्तराखंड राज्य पंडित गोविंद बल्लभ पंत के सपनों के अनुरूप प्रगति करता रहेगा।

इस अवसर पर पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, राज्य महिला आयोग अध्यक्ष कुसुम कंडवाल, पद्मश्री प्रेम चंद्र शर्मा, कार्यक्रम संयोजक डॉ नवीन चंद्र पंत, राकेश डोभाल सहित कई लोग उपस्थित रहे।

Related posts

दिनांक 07/10/2023 को वीवीआईपी भ्रमण कार्यक्रम के दृष्टिगत जनपद देहरादून में यातायात रुट / डायवर्जन प्लान निम्नवत रहेगा

prabhatchingari

फिर से चरमरा गया एलईडी स्ट्रीट लाइट की मरम्मत का कार्य

prabhatchingari

रामलला मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के हम सब बनेंगे साक्षी : सीएम

prabhatchingari

बमोथ गांव में पांडवों के गंगा स्नान पित्र तर्पण के साथ हुई भव्य जल कलश यात्रा

prabhatchingari

मशरूम की खेती कर चमोली जिले की महिलाएं बन रही हैं आत्मनिर्भर

prabhatchingari

उत्तराखंड राज्य की पहली महिला मुख्य सचिव, राधा रतूड़ी बनी , आदेश जारी

prabhatchingari

Leave a Comment