Prabhat Chingari
Uncategorized

चमोली जिले के थराली ब्लॉक में फिर बादल फटने से नुकसान*

चमोली ( प्रदीप लखेड़ा ) के थराली में रात से शुरू हुई भारी बारिश के बीच सोल घाटी के ऊपरी क्षेत्रों में चमक और तेज गर्जना के साथ भारी बारिश हुई। ब्रह्मताल सुपताल और भेकल ताल क्षेत्र में बादल फटने से पहाड़ के पहाड़ बहकर प्राणमति नदी में आ गए। जिससे नदी विकराल रूप से बहने लगी।
नदी के साथ बड़े-बड़े बोल्डर और सैकड़ों पेड़ तिनके की तरह बहने लगे। नदी की गर्जना पांच किलोमीटर से अधिक दूर तक सुनाई दे रही थी। जैसे ही नदी में तेज आवाज आनी शुरू हुई क्षेत्र में रह रहे ग्रामीणों ने थराली, कुलसारी, हरमनी में नदी किनारे रह रहे लोगों को घरों से निकलकर सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा।
तहसील और पुलिस प्रशासन की टीम ने लोगों को नदी किनारे से हटाया। थराली में पिंडर नदी के किनारे रहने वाले लोगों ने ग्वालदम थराली तिराहा और नासिर बाजार में जाकर रात बिताई। इससे पहले रविवार की रात को थराली गांव में प्राणमति नदी ने जो तबाही मचाई थी उससे भी अधिक मात्रा में मलबा फिर इस क्षेत्र में घुसा और फिर से वहां सैलाब आ गया।
रविवार को थराली और सुना को जोड़ने वाला मोटर पुल और झूला पुल प्राणणमति नदी के सैलाब में बह गया था। मंगलवार को ग्रामीणों ने यहां पर अस्थाई पुल का निर्माण किया था, लेकिन बुधवार की रात्रि को प्राणमति नदी में फिर से आई बाढ़ में यह पुल बह गया और फिर से थराली और सुना गांव की 5000 से अधिक जनसंख्या का संपर्क पूरी तरह से कट गया।
तहसील और पुलिस प्रशासन की टीम रात भर सायरन और संदेशों के जरिए लोगों को सतर्क करती रही। बादल फटने से रतगांव, ढाडर बगड़, देवकुना गांव में भी भारी तबाही हुई है।

Related posts

डीएम मयूर दीक्षित ने किया तहसील नैनबाग और ईको हट्स धनोल्टी का स्थलीय निरीक्षण

prabhatchingari

उत्तराखंड सरकार में नवनियुक्त राज्य मंत्री रमेश गड़िया का अपने गृह जनपद चमोली में प्रथम बार आगमन पर भव्य स्वागत*

prabhatchingari

निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण कार्यो हेतु रोस्टर हुआ जारी।

prabhatchingari

चमोली में खेल महाकुंभ का आगाज 15 नवम्बर से होगा*

prabhatchingari

छोटी दिवाली पर यहाँ पहुचे DG बंशीधर तिवारी,

prabhatchingari

जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने अधिकारियों की बैठक लेते हुऐ लंबित प्रकरणों की समीक्षा की

prabhatchingari

Leave a Comment