Prabhat Chingari
अन्तर्राष्ट्रीय

श्री महंत इन्दिरेश में ईएनटी सर्जनों ने सीखी सर्जरी की अत्याधुनिक अन्तर्राष्ट्रीय तकनीकें


देहरादून। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के नाक कान गला रोग विभाग की ओर से अन्तर्राष्ट्रीय वर्कशाप का आयोजन किया गया। ई. एन. टी. एडिटस 2023 विषय पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय वर्कशॉप में विश्व प्रसिद्ध एंडोस्कोपिक सर्जन प्रोफेसर डेनियल मार्केन्यू व अन्य एशिया के टॉप ई एन टी सर्जन विकास अग्रवाल व अन्य विख्यात ई.एन.टी. सर्जनों ने अन्तर्राष्ट्रीय मॉर्डन तकनीकों पर आधारित मॉर्डन तकनीकों से सर्जरी की। मेडिकल शोधार्थियों व डॉक्टरों को उन तकनीकों से रूबरू करवाया। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के आपरेशन थियेटर से इन सर्जरियों का सजीव प्रसारण किया। यू-ट्यूब व अन्य इंटरनेट माध्यमों से भी सर्जरी के लाइव टेलीकास्ट में देश विदेश में देखा गया। यह जानकारी श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की नाक कान गला रोग विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ त्रिप्ती ममगाईं ने दी।

शनिवार को दो दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय वर्कशॉप का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ यशबीर दिवान, विशिष्ट अतिथि डॉ एस.सी. के. जोशी, श्री गुरु राम राय राय इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज़ के प्राचार्य डॉ आर.के. वर्मा, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ प्रेरक मित्तल, चिकित्सा अधीक्षक डॉ अजय पंडिता व श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की नाक कान गला रोग विभाग की प्रमुख डॉ त्रिप्ती ममगाईं ने संयुक्त रूप से किया । विश्व प्रसिद्ध ई.एन.टी. सर्जन प्रो. डैनिल मारक्योनि, प्रो. एवम् विभागाध्यक्ष, ई.एन.टी., मोडिना विश्वविद्यालय, इटली व एशिया के प्रसिद्ध ई. एन. टी. सर्जन डॉ विकास अग्रवाल ने अन्तर्राष्ट्रीय तकनीकों पर आधारित एंडोस्कोपिक ईएनटी सर्जरी की। शनिवार को 4 सर्जरियां की गई, रविवार के लिए भी 4 सर्जरियां प्रस्तावित हैं ।
अन्तर्राष्ट्रीय वर्कशाप में अन्तर्राष्ट्रीय तकनीकों का इस्तेमाल कर एंडोस्कोपिक टाइपैनोप्लास्टी, नेवीगेशन गाइडेड एंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी, कोबलेशन एडिनोपो टॉन्सिलैक्टॉमी सर्जरी की गई। डॉ. एस. के. जोशी ने लाइव सर्जरी के दौरान मॉडर्न ई एनटी तकनीकों के मेडिकल व आधुनिक पक्ष को विस्तारपूर्वक समझाया.

डॉ तिप्ती ममगाईं ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय वर्कशाप का मुख्य उद्देश्य विश्वस्तरीय ईएनटी आपरेशन तकनीकों को मेडिकल शोधार्थियों व मेडिकल डॉक्टरों से रूबरू करवाना है। मेडिकल साइंस में बहुत तेजी के साथ विस्तार और नई तकनीकें जुड़ रही हैं। ऐसी वर्कशाप शैक्षणिक प्रसार, नए इंस्ट्रूमेंटल इक्यूमेंटस व करती है।
इस अवसर पर श्री गुरु राम राय राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज़ के उप प्राचार्य डॉ पुनीत ओहरी, उप प्राचार्य डॉ ललित वाष्णेय, उप प्राचार्य डॉ उत्कर्ष शर्मा, डॉ सौरभ वाष्णेय, डॉ डीएम काला, डॉ अरविंद वर्मा, डॉ शरद हरनोट सहित श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल व श्री गुरु राम राय राय इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज़ के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, डॉक्टर, मेडिकल छात्र-छात्राएं व नर्सिंग स्टाफ उपस्थित रहे।

Related posts

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर राष्ट्रीय आंदोलन की जौनपुर में बैठक संपन्न।

prabhatchingari

सभ्यता फाउंडेशन ने `एडाप्ट ए हेरिटेज 2.0’ पहल के तहत भारत के चार ऐतिहासिक स्मारकों का जिम्मा लिया

prabhatchingari

सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल योगेन्द्र डिमरी उत्तर प्रदेश में आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष नियुक्त

prabhatchingari

फ़्रांस के कृषि और खाद्य संप्रभुता मंत्रालय के प्रमुख सहयोगियों ने इस पहल हेतु हार्टफुलनेस से हाथ मिलाया

prabhatchingari

जेईई (मेन) 2024 सेशन 1 में लहराया आकाश बायजूस देहरादून का परचम,

prabhatchingari

दुबई में सीएम धामी की उपस्थिति में ₹11925 करोड़ के इनवेस्टमेंट एमओयू साइन

prabhatchingari

Leave a Comment