Prabhat Chingari
जीवन शैली

मिनी स्वीटजरलैंड चौपता में वन विभाग एवं प्रशासन की टीम ने हटाया अतिक्रमण,

चमोली ( प्रदीप लखेड़ा )
उत्तराखंड में इन दिनों वन विभाग और प्रशासन ने अतिक्रमण के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है। मंगवालर 19 सितंबर की रात को वन विभाग की टीम ने प्रशासन की मदद से रुद्रप्रयाग जिले में चोपता बदरीनाथ हाईवे पर सड़कों के किनारे अतिक्रमण कर बनाए गए ढाबों और होटलों को ध्वस्त किया। हालांकि प्रशासन और वन विभाग की इस कार्रवाई पर उत्तराखंड क्रांति दल ने सवाल खड़े किए हैं और अपना विरोध जताया है।
जानकारी के मुताबिक 19 सितंबर देर रात को वन विभाग की टीम पर्यटक स्थल चोपता के पास मक्कूबैंड इलाके में पहुंची। यहां चोपता-बदरीनाथ हाईवे किनारे किए गए अतिक्रमण का साफ किया गया। रात के समय वन विभाग और तहसील प्रशासन की टीम ने यहां पहुंचकर होटल-ढाबों को ध्वस्त कर दिया।
अतिक्रमण के खिलाफ हुई इस कार्रवाई का स्थानीय महिलाओं ने विरोध किया था कुछ महिलाएं जेसीबी पर भी चड़ गई थी, लेकिन प्रशासन और वन विभाग की टीम के आगे उनकी एक नहीं चली और टीम ने होटलों व ढाबों को ध्वस्त किया। अतिक्रमणकारियों का कहना है कि उन्होंने प्रशासन से तीन दिन का समय मांगा था, लेकिन प्रशासन ने उनकी एक नहीं सुनी और उन्हें सड़क पर खड़ा कर दिया।
दरअसल, मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से प्रसिद्ध चोपता-दुगलबिट्टा वन विभाग के सेंचुरी अधिनियम के अंतर्गत आता है। यहां के बुग्यालों में कई लोगों ने अतिक्रमण किया है। मंगलवार देर रात प्रशासन की टीम ने चोपता से पहले मक्कूबैंड में चोपता-बदरीनाथ हाईवे किनारे किये गये अतिक्रमण को हटा दिया है।

Related posts

ई-स्मार्ट क्लिनिक की शुरुआत! भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच बढ़ाने को लेकर भारत सरकार के साथ मिलकर लॉर्ड्स मार्क इंडस्ट्रीज की पहल

prabhatchingari

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने किया डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर पुष्पांजलि अर्पित

prabhatchingari

मुर्शिदाबाद की 47 वर्ष महिला का स्वास्थ्य साथी के तहत जन्मजात हृदय विसंगति का इलाज किया जाता है

prabhatchingari

दून की पोषण विशेषज्ञ रूपा सोनी मिलेट्स पर करेंगी अपनी पहली किताब का विमोचन*

prabhatchingari

महिला समूह द्वारा पिरुल की राखी व टोकरी बन रही है,ग्राम टिकरी मैं

prabhatchingari

सामाजिक मूल्यों को जीवित रखना एक पत्रकार का धर्म : भगत सिंह कोश्यारी

prabhatchingari

Leave a Comment