Prabhat Chingari
उत्तराखंड

उत्तराखंड के इस जिले में बादल फटने से भारी तबाही

गोपेवर /(प्रदीप लखेड़ा ) जिले के सोल घाटी में देर रात बादल फटने से थराली गांव और केरा गांव में भारी नुकसान हुआ है। दोनों गांवों में कई मकान, दुकानें और गौशालाएं मलबे में दब गए हैं। लोगों ने आधी रात को घर से भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई। पीपलकोटी, गडोरा और ढाढर बगड़ में भी कई मकान मलबे में दब गए हैं। क्षेत्र में अभी भी बारिश हो रही है, जिससे लोग दहशत में हैं। प्राणमति नदी के उफान पर आने से रतगांव को जोड़ने वाला वैली ब्रीज और थराली गांव को कोटडीप से जोड़ने वाला आरसीसी ब्रिज भी टूट गया है। सोल घाटी मोटर मार्ग का लगभग 50 मीटर हिस्सा भी बह गया है जिससे ब्लॉक मुख्यालय थराली से सोल घाटी का संपर्क कट गया है।

पीपलकोटी में नगर पंचायत का दफ्तर और आसपास के आवासीय भवन मलबे में दब गए हैं। कई वाहन में मलबे में दबे हैं। नगर पंचायत अध्यक्ष रमेश बंडवाल ने बताया कि मकानों को खाली कर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पीपलकोटी के गडोरा में बदरीनाथ हाईवे पर भी भारी मात्रा में मलबा आ गया है। मलबे में कुछ वाहन दबे हैं । चमोली तहसील के कौंज पानी गांव में तीन गौशालाएं मलबे में दब गई है। इन गौशालाओं में कई मवेशी थे।

Related posts

उत्तराखंड में खिलाड़ियों के 4% आरक्षण को विधानसभा पटल पर मिली मंज़ूरी,

prabhatchingari

कांगड़ा पुल के पास डूबते कांवड़िये के लिए देवदूत बना SDRF जवान।

prabhatchingari

मुख्यमंत्री सश्कत बहना उत्सव योजना

prabhatchingari

युवक के लिए देवदूत बने SDRF जवान, खाई से किया सकुशल रेस्क्यू

prabhatchingari

श्री महंत इन्दिरेशअस्पताल के गैस्ट्रोइंट्रोलॉजिस्ट ने मरीज़ की आहारनली से निकाला डेंचर

prabhatchingari

महाराज का मुख्यमंत्री से आग्रह, पानी में डूबे क्षेत्रों को आपदाग्रस्त क्षेत्र घोषित किया जाए*

prabhatchingari

Leave a Comment