Prabhat Chingari
अन्तर्राष्ट्रीयउत्तराखंड

सिंचाई मंत्री महाराज ने योगी से परिसम्पत्तियों के हस्तान्तरण के शानादेश करने का किया अनुरोध

देहरादून/लखनऊ। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, जलागम प्रबन्धन एवं भारत नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिष्टाचार भेंट कर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच अस्तियों एवं दायित्वों के विभाजन के सम्बन्ध में हुई बैठकों का हवाला देते हुए जनपद हरिद्वार, उधमसिंह नगर और चम्पावत की जिन परिसम्पत्तियों के उत्तराखण्ड राज्य को हस्तान्तरण पर सहमति बनी थी उनके शासनादेश जारी किए जाने का अनुरोध करने के साथ-साथ उनसे उत्तराखंड राज्य की सीमा में उत्तर प्रदेश के स्वामित्व वाली सड़कों की खराब स्थिति एवं उनके सुधारीकरण किए जाने की भी बात कही।

प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, जलागम प्रबन्धन एवं भारत नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर शिष्टाचार भेंट कर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों बीच अस्तियों एवं दायित्वों के विभाजन के सम्बन्ध में हुई बैठकों का हवाला देते हुए जनपद हरिद्वार में सिचाई विभाग की 615.836 हेक्टेयर भूमि एवं सं0 348 आवासीय भवन और सं0 167 की अनावासीय भवन के अलावा संयुक्त सर्वेक्षण के आधार पर चयनित जनपद उधमसिंह नगर की 49.234 हेक्टेयर भूमि में से 12.457 हेक्टेयर भूमि व 41 सं0 आवासीय भवन और 07 सं0 अनावासीय भवन के साथ साथ जनपद चम्पावत में स्थित 31.889 हेक्टेयर भूमि उत्तराखंड राज्य को हस्तांतरण किये जाने हेतु शासनादेश जारी किए जाने का भी अनुरोध किया।

प्रदेश के सिंचाई मंत्री श्री महाराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट कर उन्हें जनपद हरिद्वार के असिंचित क्षेत्रों हेतु गंग नहर से 665 क्यूसेक पानी दिए जाने के साथ ही दोनों राज्यों के मध्य जल बंटवारे पर सहमति बनाए जाने की भी बात कही।

श्री महाराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को परिसंपत्ति के हस्तांतरण के शासनादेश शीघ्र करवाने के साथ-साथ उत्तराखंड राज्य की सीमा में उत्तर प्रदेश के स्वामित्व वाली सड़कों की खराब स्थिति एवं उनके सुधारीकरण किए जाने का पत्र सौंपते हुए कहा कि उत्तराखंड राज्य की अधिकतर सीमा उत्तर प्रदेश से लगी होने के कारण श्रद्धालु उत्तर प्रदेश से होकर ही उत्तराखंड में आते हैं, इसलिए राज्य के जनपद रुद्रपुर तथा पौड़ी से जुड़ने वाली उत्तर प्रदेश सरकार की स्वामित्व की सड़कें जिनमें अलीगंज-काशीपुर, ठाकुरद्वारा-काशीपुर, जसपुर-धामपुर तथा नजीबाबाद- कोटद्वार-पौड़ी मार्ग की सड़कों की खराब स्थिति को तत्काल सुधारा जाना चाहिए।

 

Related posts

विश्व फोटोग्राफी दिवस पर फ़ोटोग्राफ़र्स वेलफेयर सोसाइटी नेआयोजित किया रक्तदान शिविर………

prabhatchingari

रमेश सिंह गड़िया ने उत्तराखंड जलागम निदेशालय पहुंचकर कार्यभार ग्रहण किया

prabhatchingari

ऋषिकेश नीलकंठ मार्ग पर खैर खाल में भूस्खलन के चलते वाहनों की आवाजाही रोकी दी गई

prabhatchingari

CBI कर रही है डीएवी पीजी कॉलेज के 14 पूर्व छात्रों की तलाश, करोड़ों के घपले का मामला

prabhatchingari

बरसाती रपटे में बही यात्रियों से भरी बस, कुल 35 लोग सवार थे बाल– बाल बचे यात्री।

prabhatchingari

सीएम धामी ने जल संरक्षण अभियान के तहत सौंग नदी के बांये तट पर स्थित जौली नहर के हेड पर जल संरक्षण व संर्वद्धन योजना का लोकार्पण

prabhatchingari

Leave a Comment