Prabhat Chingari
धर्म–संस्कृति

स्पिक मैके स्टेट कन्वेंशन 1 से 3 सितंबर को यूनिसन वर्ल्ड स्कूल में होगा आयोजित

देहरादून: द सोसायटी फॉर प्रमोशन ऑफ़ इंडियन क्लासिकल म्यूसिक अमंग यूथ (स्पिक मैके) और यूनिसन वर्ल्ड स्कूल ने आज आयोजित प्रेस वार्ता में आगामी स्पिक मैके स्टेट कन्वेंशन 2023 की घोषणा करी। यह सम्मेलन भारतीय संस्कृति और कला का एक जीवंत उत्सव होगा, और इसका आयोजन 1 से 3 सितंबर देहरादून के यूनिसन वर्ल्ड स्कूल में होने जा रहा है।

डॉ किरण सेठ द्वारा स्थापित, स्पिक मैके युवाओं के बीच भारतीय शास्त्रीय संगीत, नृत्य और संस्कृति की समृद्ध विरासत को बढ़ावा देने का एक प्रतीक रहा है। डॉ किरण सेठ के अनुसार, “स्पिक मैके स्टेट कन्वेंशन युवाओं के लिए हमारी विविध सांस्कृतिक सुंदरता का आनंद प्रदान करने वाला एक मंच है। यह कार्यक्रम युवाओं को कला की प्रशंसा करने का मौक़ा देता है और एकता और समझ की भावना को प्रोत्साहित करता है।”

मीडिया को संबोधित करते हुए, स्पिक मैके उत्तराखंड चैप्टर की अध्यक्ष, विद्या वासन ने कहा, “यह सम्मेलन प्रसिद्ध कलाकारों की एक श्रृंखला की मेजबानी करते हुए सभी उपस्थित दर्शकों को एक समृद्ध अनुभव प्रदान करेगा। पद्म श्री डॉ. माधुरी बर्थवाल, डॉ. अन्वेसा महंता, पद्म भूषण डॉ. एन राजम और डॉ. संगीता शंकर, पद्म श्री पं. उल्हास कशालकर, डॉ. वंदना शिवा, पद्म श्री विद. जयराम राव, पं. राकेश चौरासिया, श्री पार्थो रॉय चौधरी, श्री विशाल मिश्रा, पं. तेजेंद्र मजूमदार, विद संदीप नारायण, नक्षत्र गुरुकुल, श्री विशाल कृष्णा और संजोर त्सोकपा अपने प्रदर्शन और अंतर्दृष्टि से इस कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए इस कन्वेंशन में प्रतिभाग करेंगे।”

आगे बोलते हुए उन्होंने बताया, “देहरादून और उसके आसपास के कई अन्य स्कूल भी इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं। इस तीन दिवसीय राज्य सम्मेलन में भाग लेने में रुचि रखने वाला कोई भी व्यक्ति प्रताप म्यूजिक हाउस, इंग्लिश बुक डिपो, डब्ल्यूआईसी क्लब और दून क्लब से निमंत्रण कार्ड प्राप्त कर सकता है।”

यूनिसन वर्ल्ड स्कूल की प्रिंसिपल डॉ. मोना खन्ना ने अपनी प्रत्याशा साझा करते हुए कहा, “स्पिक मैके राज्य सम्मेलन 2023 की मेजबानी करना हमारे लिए सम्मान की बात है। यूनिसन ने हमेशा से समग्र शिक्षा को बढ़ावा देने में विश्वास रखा है, और यह सम्मेलन हमारे छात्रों में सांस्कृतिक समझ और प्रशंसा को बढ़ावा देने के हमारे विचारों के साथ पूरी तरह से मेल खाता है।”

उन्होंने आगे कहा, “तीन दिवसीय इस कार्यशाला में, छात्रों और उपस्थित लोगों को भारत के उत्कृष्ट कलाकारों द्वारा शास्त्रीय प्रदर्शनों की एक विविध श्रृंखला देखने, प्रख्यात गुरुओं के साथ गहन अभ्यास करने, योग तकनीक और विभिन्न कला रूपों को सीखने, ज्ञानवर्धक वार्ता सत्रों में शामिल होने, और प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा आयोजित व्यावहारिक कार्यशालाओं में भाग लेने का अनूठा अवसर मिलेगा।”

Related posts

महासू मंदिर, के मास्टर प्लान को मंजूरी प्रदान करने पर क्षेत्रीय निवासियों ने मुख्यमंत्री से भेंट कर जताया आभार

prabhatchingari

विधि विधान से खुले आदिबदरी मंदिर के कपाट, श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

prabhatchingari

फिजिक्स वाला ने देहरादन में तकनीक सक्षम ऑफ़लाइन सेंटर पीडब्ल्यू विद्यापीठ का शुभारंभ किया।

prabhatchingari

जन्‍माष्‍टमी पर बनने जा रहा है बेहद ही दुर्लभ संयोग,

prabhatchingari

भगवान के साथ मानवीय रिश्ते बनाकर ,उनकी पूजा अर्चना और उनके साथ आनंद मानाने का त्यौहार है , सातू आठू त्यौहार*

prabhatchingari

श्री हेमकुंड साहिब यात्रा के प्रहरी बने एसडीआरएफ के जवान

prabhatchingari

Leave a Comment