Prabhat Chingari
धर्म–संस्कृति

28 वर्षों बाद हुआ मां राजराजेश्वरी इंद्रामती एवं बद्रीनारायण का मधुर मिलन*

चमोली ( प्रदीप लखेड़ा )
नागपुर पट्टी के पोखरी विकास खण्ड के कुमेड़ा गांव की आराध्य देवी मां राजराजेश्वरी इंद्रामती रविवार को पैदल चलकर बद्रीनाथ धाम पहुंची और मां ने सोमवार को 28 वर्षों बाद आज भगवान बद्रीनारायण से भेंट की। भेंट के दौरान पूरा बद्रीनाथ धाम मां राजराजेश्वरी एवं बद्रीविशाल के जयकारों से गूंज उठा। मां भगवती की डोली के साथ बद्री विशाल के दर्शन करते हुए सैकड़ों भक्तों ने क्षेत्र की रिद्धि सिद्धि की कामना की।
मां ने भेंट के बाद पूरे मंदिर परिसर की परिक्रमा की और उसके बाद भगवान कुबेर, घंटाकर्ण, उद्धव, महालक्ष्मी, आदिकेदारेश्वर एवं हनुमान के दर्शन किए।
देव मिलन के अंत में मां भगवती ने अपने पश्वा एवं वीर भढों के साथ बद्रीविशाल के प्रांगण में सामूहिक नृत्य कर देश विदेश के दर्शालुओं को मंत्रमुग्ध करते हुए दर्शन दिए।
इस अवसर पर मन्दिर समिति के अध्यक्ष गुलाब सिंह कण्डारी, कोषाध्यक्ष देवेंद्र सिंह रावत, प्रधान चंद्रमोहन सिंह नेगी, मुख्य पुजारी शिवप्रसाद खाली, भगवती प्रसाद खाली, भगवती रावत, चंद्रमोहन रावत, प्रियांशु रावत, राजेंद्र सिंह नेगी, भूपेंद्र नेगी, महेंद्र सिंह नेगी, विक्रम नेगी, जयबीर सिंह नेगी, मातबर सिंह नेगी, भूपेंद्र नेगी, विक्रम रावत, महावीर नेगी, वृजमोहन नेगी, जयकृत नेगी, बुद्धि सिंह नेगी, रवि रावत, प्रमोद रावत, मनीष रावत, मुन्ना रावत, ईश्वर राणा, प्रो. दर्शन सिंह नेगी, ढोलववादक संतोष कुमार, प्रेम लाल सहित कई ग्रामीण मौजूद रहे।

Related posts

इस बार कर्तव्यपथ पर नहीं दिखेंगी उत्तराखंड की झांकी, भारत पर्व में दिखेगी देवभूमि की विकास यात्रा की झलक

prabhatchingari

प्रसिद्ध आदिबद्री मन्दिर के कपाट 16 दिसम्बर को होंगे बंद*

prabhatchingari

वसंत पंचमी के दिन शुभ मुहूर्त में विराजमान हुए नवनिर्मित मंदिर में भगवान कामेश्वर

prabhatchingari

पौराणिक सिद्ध पीठ श्रीभद्रराज मंदिर त्याडा,जयदार जौनपुर में पुजाऊज दी जायेगी

prabhatchingari

श्रावण मास में शिव पूजा का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

prabhatchingari

राजराजेश्वरी इंद्रामती की विग्रह डोली पहुंची गरुड़गंगा

prabhatchingari

Leave a Comment