Prabhat Chingari
धर्म–संस्कृति

देवभूमि के कारण हमारी पहचान है. संस्कृत हमारे परिवेष से जुड़ी भाषा है.सीएम पुष्कर सिंह धामी

अपडेट

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देव भाषा संस्कृत के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिये विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये है.

सीएम धामी ने कहा उत्तराखंड संस्कृत भाषा के विकास में भी अग्रणी राज्य बने इसके लिये नवाचार के प्रति ध्यान देना होगा, इसके लिये धनराशि की कमी नहीं होने दी जायेगी.

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने संस्कृत भाषा को बढावा देने में विज्ञान एवं तकनीकि का भी सहयोग लेने पर बल देने की बात कही

मुख्यमंत्री ने कहा कि देवभूमि के कारण हमारी पहचान है. संस्कृत हमारे परिवेष से जुड़ी भाषा है.

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाषाओं की जननी संस्कृत को बढ़ावा देना भी हम सबकी जिम्मेदारी है, ताकि इससे हमारी प्राचीन संस्कृति के संरक्षण के साथ ही संस्कृत भाषा के प्रति युवाओं का रुझान बढ़ सके.

संस्कृत भाषा, वेद, पुराणों एवं लिपियों पर शोध कार्य पर अधिक ध्यान देने की बात कही कहा कि युवाओं को संस्कृत की अच्छी जानकारी हो, समाज तक इसका व्यापक प्रभाव हो

Related posts

कैम्पटी सीया में कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव धूमधाम से मनाया,

prabhatchingari

श्री जगन्नाथ जी की रथ यात्रा इस वर्ष 20 जून को निकलेगी

prabhatchingari

ज्योतिष परामर्श शिविर मे लोगो ने समस्याओं को सुलझाने के लिए प्राप्त किए परामर्श,

prabhatchingari

सोमवार को आयोजित होने वाली शोभायात्रा में रहेगा राजधानी का रूट डाइवर्ट

prabhatchingari

माँ धारी देवी एवं भगवान श्री नागराजा देव डोली शोभायात्रा 2024 का मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया शुभारंभ

prabhatchingari

नंदकेशरी मंदिर में सौकड़ों भक्तों ने आस्था की डुबकी लगाई

prabhatchingari

Leave a Comment