Prabhat Chingari
अपराधउत्तराखंड

तीन वरिष्ठ न्यायिक अधिकारियों को जब रन सेवानिवृत्त करने का आदेश जारी किया…..

हाई कोर्ट ने पहली बार सख्त कदम उठाते हुए तीन उच्चन्यायिक सेवा के अधिकारियों को जबरन सेवानिवृत्त
कर दिया है। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति विपिन सांघी की संस्तुति व राज्यपाल की मंजूरी के बाद शासन ने तीनों वरिष्ठ न्यायिक अधिकारियों को जबरन सेवानिवृत्तकरने का आदेश जारी किया है।
गुरुवार रात हाई कोर्ट की वेबसाइट में जारी नोटिफिकेशन श्रम न्यायालय हरिद्वार के पीठासीन अधिकारी राजेंद्र जोशी, श्रम न्यायालय काशीपुर के पीठासीन अधिकारी शमशेर अली तथा देहरादून के चतुर्थ अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश शेष चंद्र का नाम शामिल है। तीनों को उत्तराखंड न्यायिक सेवा नियमावली 2004 (संशोधित 2016) के नियम 25 (क) में निर्धारित व्यवस्था के अनुसार राज्यपाल ने लोकहित में आदेश दिया है कि तीनों न्यायिक अधिकारी आदेश जारी होने के बाद से सेवानिवृत्त हो जाएंगे। राज्यपाल की मंजूरी के बाद सचिव शैलेश बगौली के हस्ताक्षर से यह आदेश जारी किया गया है।

बता दें कि नैनीताल हाई कोर्ट इन तीनों के मिलाकर अब तक अनियमितता व भ्रष्टाचार की शिकायत पर करीब एक दर्जन न्यायिक अधिकारियों पर कार्रवाई कर चुका है। कार्रवाई की जद में आए न्यायिक अधिकारिय पर कदाचार, भ्रष्टाचार, प्रलोभन व पद के दुरुपयोग जैसे गंभी आरोप रहे हैं। एक महिला न्यायिक अधिकारी को घर में काम कर वाली किशोरी के उत्पीड़न के आरोप जांच में साबित होने पर बर्खास्त किया गया था।

Related posts

कांग्रेस ने पत्र भेजकर की DGP को तत्काल पद से हटाने की मांग

prabhatchingari

पुलिस ने बड़ी अवैध वन सम्पदा 405 टीन अवैध लीसा का परिवहन करते हुए दो तस्कर गिरफ्तार किया

prabhatchingari

इस्कॉन ने डालनवाला में किया मंदिर का भूमि पूजन….

prabhatchingari

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने प्रदेश की समृद्धि एवं खुशहाली के लिए किया हवन

prabhatchingari

ट्रक हुआ दुर्घटनाग्रस्त, SDRF ने बरामद किया चालक का शव

prabhatchingari

सोनप्रयाग, रामपुर के पास नदी में दिखाई दे रहे अज्ञात शव को SDRF ने किया बरामद।

prabhatchingari

Leave a Comment