Prabhat Chingari
उत्तराखंडधर्म–संस्कृति

सी एम धामी के निर्देश पर उत्तराखंड के चारधामों में दर्शनों को यात्रियों की दैनिक निर्धारित सीमा अब हुई समाप्त, अध्यक्ष, चारधाम यात्रा प्रशासन ने लिया निर्णय

देहरादून,मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर गढ़वाल आयुक्त/अध्यक्ष, चारधाम यात्रा प्रशासन द्वारा यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर ऋषिकेश एवं हरिद्वार में चारों धामों के दर्शन हेतु निर्धारित की गई सीमा को समाप्त करने का निर्णय लिया है।

गढ़वाल आयुक्त /अध्यक्ष, चारधाम यात्रा प्रशासन विनय शंकर पांडेय ने बताया है कि वर्तमान में चारों धामों में भीड़ सामान्य होने के दृष्टिगत मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जनहित में यह निर्णय लिया गया है कि यात्रियों की सुविधा हेतु ऋषिकेश एवं हरिद्वार में चारो धामों के दर्शन के लिए जो कोटा निर्धारित किया गया था, उसे समाप्त करते हुए अब यात्री ऋषिकेश एवं हरिद्वार के रजिस्ट्रेशन काउन्टर में स्वंय भौतिक रूप से उपस्थित होकर चारों धाम/दो धाम या किसी भी धाम का सीधे रजिस्ट्रेशन प्राप्त कर अपनी यात्रा पर सुगमता से जा सकते हैं। यह आदेश चारों धामों में आने वाले यात्रियों की सुविधा हेतु तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

गढ़वाल आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने अवगत कराया है कि विगत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष चारधाम यात्रियों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। गत वर्ष चारधाम यात्रा प्रारम्भ के एक माह में 12,35,517 श्रद्धालुओं द्वारा धामों के दर्शन किये गये थे, जबकि इस वर्ष 19,64,912 श्रद्धालुओं द्वारा चारों धामों के दर्शन किये जा चुके हैं, जो गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष लगभग डेढ गुना अधिक है।

Related posts

आशा,भोजन माता व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मांगों पर मुख्यमंत्री ने दिया कार्रवाई का भरोसा

prabhatchingari

बारिश से हुए टपकेश्वर मंदिर क्षेत्र तथा भीतरली गांव में हुए नुकसान का स्थलीय करते मंत्री गणेश जोशी।

prabhatchingari

पूर्व सैनिक संगठनों के प्रतिनिधियों को आर्थिक सहायता के चैक भेट करते सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी

prabhatchingari

श्री यमुनोत्री धाम से आए यमुना कलश एवं श्री सोमेश्वर देवता का हुआ भव्य स्वागत,

prabhatchingari

ऊर्जा और जल संरक्षण को लेकर एमडीडीए वीसी बंशीधर तिवारी की बड़ी पहल, इसका प्रयोग शुरू हुआ तो देहरादून को मिलेगा बड़ा लाभ

prabhatchingari

योग हमें स्वावलंबन की सनातन परंपरा से जोड़ता है: महाराज

prabhatchingari

Leave a Comment