Prabhat Chingari
उत्तराखंड

पूजा-अर्चना कर विधि विधान के साथ कुबेर जी की मूर्ति नए मंदिर में विराजमान हो जाएगी

*15 जनवरी को पूजा-अर्चना कर विधि विधान के साथ कुबेर जी की मूर्ति नए मंदिर में विराजमान हो जाएगी*
चमोली ( प्रदीप लखेड़ा )
पांडुकेश्वर में नवनिर्मित मंदिर में कुबेर जी मूर्ति मकर संक्रांति को विराजमान हो जाएगी। इसके लिए मंदिर में शुक्रवार से धार्मिक अनुष्ठान शुरू हो गए हैं। महिलाओं ने पारंपरिक परिधानों में कलश यात्रा निकाली।
पांडुकेश्वर कुबेर जी व उद्धवजी के शीतकालीन प्रवास स्थल हैं। यहां पर कुबेर जी का मंदिर जीर्णशीर्ण हो गया था, जिसकी जगह पर ग्रामीणों ने भव्य मंदिर तैयार कर लिया है। मकर संक्रांति पर धार्मिक विधि विधान के साथ कुबेर जी की मूर्ति अपने नवनिर्मित मंदिर में विराजमान हो जाएंगे। इसको लेकर शुक्रवार से धार्मिक अनुष्ठान शुरू हो गए हैं। शुक्रवार सुबह महिलाएं पारंपरिक परिधान में कुबेर मंदिर पहुंचीं और कलश यात्रा निकाली गई। महिलाएं अलकनंदा नदी से कलश में जल भरकर मंदिर पहुंचीं। इस जल से मंदिर का शुद्धीकरण किया जाएगा। कुबेर दिवारा समिति के सचिव जसवीर सिंह मेहता ने बताया कि 15 जनवरी को पूजा-अर्चना कर विधि विधान के साथ कुबेर जी की मूर्ति नए मंदिर में विराजमान हो जाएगी।

Related posts

इंस्टीट्यूट इनोवेशन काउंसिल की क्षेत्रीय बैठक दाजी द्वारा नवीनतम अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलर ‘स्पिरिचुअल एनाटॉमी’ के भारतीय संस्करण के भव्य विमोचन के साथ आयोजित की गई

prabhatchingari

विधानसभा भवन में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी से मुलाकात करते उपनल कर्मचारी संयुक्त मोर्चा, उत्तराखण्ड के प्रतिनिधि मंडल

prabhatchingari

ग्राफिक एरा अस्पताल ने ओपीडी व सर्जरी निशुल्क

prabhatchingari

हॉवर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड (लंदन) द्वारा विश्व रिकॉर्ड में सम्मिलित गौचर निवासी कवि यद्भुवीर बिष्ट हुऐ सम्मानित

prabhatchingari

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय गोपेश्वर का सात दिवसीय शिविर शुरू*

prabhatchingari

*क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं का करेंगे शिलान्यास व लोकार्पण*

prabhatchingari

Leave a Comment