Prabhat Chingari
उत्तराखंड

इन बीमारियों में नहीं खाना चाहिए अंडा, डैमेज हो सकते हैं शरीर के कई अंग

देश से लेकर विदेश तक कई सारे लोग ब्रेकफास्ट में अंडा खाना पसंद करते हैं. क्योंकि अंडे में प्रोटीन की मात्रा काफी ज्यादा होती है। यह प्रोटीन का सबसे बेस्ट सोर्स माना जाता है. अंडे न सिर्फ ब्रेकफास्ट में बल्कि लंच और डिनर किसी वक्त भी खाया जा सकता है. अंडे की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे बनने वाली रेसिपी बहुत आराम और फटाफट बन जाती है। वहीं कुछ रिसर्च में यह भी साबित हो चुका है कि कुछ ऐसी बीमारियां है जिसके मरीज को अंडा भूल से भी नहीं खाना चाहिए।

इन बीमारी वाले लोगों को नहीं खाना चाहिए अंडा

दिल की बीमारी
दिल की बीमारी वाले मरीज को भूल से भी अंडा नहीं खाना चाहिए। अंडा खाने से बीमारी बढ़ सकती है. इससे ब्लड सर्कुलेशन में दिक्कत आ सकती है. यह बेहद खतरनाक हो सकता है।

दस्त में
अंडे की तासीर गर्म होती है। अगर किसी व्यक्ति का पेट खराब है तो उसे अंडा नहीं खाना चाहिए इससे दिक्कत बढ़ सकती है।

कब्ज में
कब्ज की बीमारी में अंडा नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे पाचन से जुड़ी दिक्कत और परेशानी बढ़ सकती है।

कोलेस्ट्रॉल
जिन लोगों को कोलेस्ट्रॉल की शिकायत है उन्हें तो एकदम अंडा नहीं खाना चाहिए. क्यों इसे खाने से और भी ज्यादा बढ़ सकता है।

डायबिटीज
डायबिटीज के मरीज को अंडा खाने से बचना चाहिए. अगर अंडे खाना पसंद है तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

वहीं कैंसर जैसी बीमारी से बचना है तो हर रोज अंडे खाना चाहिए। हार्वड यूनिवर्सिटी की 2003 की रिसर्च के मुताबिक, अंडे खाने से व्यस्क महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा टल जाता है। 2005 की एक अन्य स्टडी के मुताबिक, जो महिलाएं एक सप्ताह में 6 अंडे तक खाती हैं उनमें 44 फीसदी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा घट जाता है। अंडे को आप किसी भी रूप में खा सकते हैं जरूरी नहीं की उबले हुए अंडे ही खाएं जाएं. यदि आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो अंडे खाइए। अंडे में सबसे पोषक पदार्थ अंडे की जर्दी होती है जिसमें 90 फीसदी तक कैल्शियम और आयरन होता है।

Related posts

छात्र छात्राओं के साथ अश्लील हरकत करने वाला प्रधानाध्यापक निलम्बित

prabhatchingari

समायोजन की मांग को लेकर कोविड कर्मचारियों ने किया विधानसभा कूच

prabhatchingari

इमर्जिंग फैशन डिजाइनर इंडिया प्रतियोगिता में मानसी रावत विजेता बनकर उभरीं

prabhatchingari

पुरुष पात्रों की तुलना में महिलाओं का चित्रण ज्यादा रूढ़िवादी (त्वचा का रंग, रूप और उम्र) तरीके से किया जाता है

prabhatchingari

मंत्री प्रेम चंद्र अग्रवाल से पुरस्कार पाकर बिल लाओ इनाम पाओ विजेताओं के खिले चेहरे।

prabhatchingari

देहरादून में मानव- वन्यजीव संघर्ष प्रबंधन सीखेंगे भारतीय वन सेवा के अधिकारी

prabhatchingari

Leave a Comment