Prabhat Chingari
अन्तर्राष्ट्रीयअपराध

पिता व भाई की हत्या कर युवती प्रेमी संग भागी, शव के टुकड़े कर फ्रिज में ठूस दिए

मध्यप्रदेश के जबलपुर में अपने पिता और 9 साल ले भाई की हत्या कर उनके शवों के टुकड़े फ्रीज़ में भरकर फरार होने वाली नाबालिग बेटी को हरिद्वार से गिरफ्तार किया गया है। वहीं प्रेमी मुकुल सिंह फरार होने में कामयाब हो गया। जिसकी तलाश की जा रही हैं। हरिद्वार पुलिस को यह बड़ी कामयाबी मिली है।
क्या है पूरा मामला
14-15 मार्च की रात जबलपुर के सिविल लाइन्स स्थित रेलवे की मिलेनियम कॉलोनी में खौफनाक हत्याकांड हुआ था। कॉलोनी के 363-3 ब्लॉक में जबलपुर रेल मंडल में हेड क्लर्क 52 साल के राजकुमार विश्वकर्मा और उनके 9 साल के बेटे तनिष्क की निर्मम तरीके से हत्या हुई थी। आरोप है कि दोनों की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उनकी बेटी और उसके दोस्त मुकुल सिंह ने की थी। मुकुल ने हेड क्लर्क राजकुमार के शव को पन्नी में बांधकर किचन में फेंक दिया था। जबकि, तनिष्क के शव को कपड़े में बांधकर फ्रिज में बुरी तरह से ठूंस दिया था। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज देखा तो यहां रहने वाले सेफ्टी ओएस राजपाल सिंह का बेटा मुकुल सिंह अपनी स्कूटर से मृतक की नाबालिग बेटी के साथ दोपहर करीब 12:23 बजे कॉलोनी से निकलता हुआ नजर आया था। तो यहां रहने वाले सेफ्टी ओएस राजपाल सिंह का बेटा मुकुल सिंह अपनी स्कूटर से मृतक की नाबालिग बेटी के साथ दोपहर करीब 12:23 बजे कॉलोनी से निकलता हुआ नजर आया था।

Related posts

12 हजार शिक्षकों की जांच 69 निकले फर्जी, और भी कई फर्जी शिक्षाओं का हो सकता है खुलासा।

prabhatchingari

इंस्टीट्यूट इनोवेशन काउंसिल की क्षेत्रीय बैठक दाजी द्वारा नवीनतम अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलर ‘स्पिरिचुअल एनाटॉमी’ के भारतीय संस्करण के भव्य विमोचन के साथ आयोजित की गई

prabhatchingari

इंदौर में बोले BJP प्रदेश अध्यक्ष शर्मा, अध्यक्ष पद से हटाने की अटकलों पर दिया ऐसा जवाब…. | BJP state president Sharma said in Indore, gave such an answer on the speculations about his removal from the post of president….

cradmin

भारत के सबसे युवा रेकी हीलर आयुष गुप्ता ने छात्रों को करवाया मेडिटेशन

prabhatchingari

हाथ में सिगरेट लेकर, पुलिस की गाड़ी के बोनट में बैठ फोटो खींचाकर दबंगई दिखाने का चढ़ा था सुरूर, पुलिस ने उतार दिया गुरुर

prabhatchingari

दो महान् सन्तों के महासमाधि दिवस — प्रेरक स्मृतियाँ

prabhatchingari

Leave a Comment