Prabhat Chingari
अन्तर्राष्ट्रीयव्यापार

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन शो के रूप में, SATTE 2024 भारतीय और वैश्विक पर्यटन में लेकर आएगा सुधार

देहरादून, दिग्गज प्रदर्शनी आयोजक, इंफॉर्मा मार्केट्स इन इंडिया, दक्षिण एशिया की नंबर 1 ट्रैवल प्रदर्शनी SATTE 2024 का आयोजन करने के लिए पूरी तरह तैयार है। यह प्रदर्शनी इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली एनसीआर में 22 से 24 फरवरी 2024 के बीच आयोजित होगी। SATTE को भारतीय और ग्लोबल ट्रैवल और पर्यटन बाजार से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। यह इसका 31वां संस्करण है। इसकी पहचान एपीएसी रीजन के सबसे बड़े शो में से एक के रूप में हैं। SATTE ने घरेलू, रीजनल, इनबाउंड और आउटबाउंड पर्यटन को विकसित करने में जो 360-डिग्री भूमिका निभाई है उसके चलते इस शो का कद लगातार बढ़ा है। SATTE 2024 के अब तक का सबसे बड़ा शो होने की उम्मीद है। इसमें 1500 से अधिक प्रदर्शकों, 800 से अधिक मेजबान अंतरराष्ट्रीय और घरेलू खरीदारों और 120 से अधिक भारतीय शहरों/कस्बों के एजेंटों/ऑपरेटरों/पेशेवरों की भागीदारी की संभावना है।

SATTE 2024 भारत के तेजी से बढ़ते ट्रैवल इंडस्ट्री के बारे में जानकारी हासिल करने का बेहतरीन अवसर प्रदान करता है। यह शो पर्यटन व्यवसाय के अवसरों का पता लगाने और इस इंडस्ट्री के उभरते परिदृश्य के बारे में विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए यात्रा, पर्यटन और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के संपूर्ण वैल्यू चेन को एक मंच पर लाता है। 2028 तक भारत की विजिटर एक्सपोर्ट आय 50 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। इसको देखते हुए SATTE 2024 भारतीय पर्यटन के लक्ष्यों को हासिल करने में सहायता करने के लिए सही मंच है।

SATTE को पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार, भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन बोर्ड, ग्लोबल ट्रैवल ट्रेड संगठनों, एयरलाइंस, होटल, वेलनेस रिसॉर्ट्स, क्रूज़, थीम पार्क, सिनेमा लोकल्स, कॉर्पोरेट ट्रैवल, निवेशकों और वेडिंग प्लानर्स सहित दूसरे लोगों से लगातार सपोर्ट मिला है।

SATTE 2024 में एक विशेष रिवर्स बॉयर-सेलर मीट “अतिथि” की शुरुआत की गई है, जो वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के सहयोग से सर्विसेज एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (SEPC) की एक बड़ी पहल है। इनबाउंड पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सर्विसेज एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल SATTE के सहयोग से पूरे भारत में भारतीय पर्यटन से जुड़े लोगों के लिए व्यावसायिक अवसरों को बढ़ाने के लिए 50 से ज्यादा देशों के लगभग 250 अंतर्राष्ट्रीय खरीदारों की भागीदारी के लिए काम कर रही है। SEPC@SATTE पहल भारत को दुनिया में सबसे ज्यादा मांग वाला ट्रेवल डेस्टिनेशन बनाने और अंततः विजन@2047 को पूरा करने के लिए सबसे सही समय पर शुरू हुई है।

राज्यों में उत्तर प्रदेश मेजबान राज्य है। बिहार, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु और उत्तराखंड भागीदार राज्य हैं। इसमें हमें भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय और 8 पूर्वोत्तर राज्यों की भागीदारी भी देखने को मिलेगी।

SATTE 2024 में सऊदी अरब, दुबई, मॉरीशस, जार्जिया, अजरबैजान, जमैका, उज्बेकिस्तान, दक्षिण कोरिया, मालदीव, थाईलैंड, मलेशिया, इंडोनेशिया, सिंगापुर, हांगकांग, वियतनाम के दनांग प्रांत, थाईलैंड के चोनबुरी प्रोविंडल, नेपाल, श्रीलंका, भूटान जैसे दूसरे एनटीओ (NTOs)की भागीदारी की भी पुष्टि हो गई है। सऊदी अरब प्रीमियम भागीदार देश हैं, दुबई, मालदीव, श्रीलंका, सिंगापुर, मलेशिया और थाईलैंड भागीदार देश हैं।

इसके अलावा, एयर इंडिया, रिज़ॉर्ट वर्ल्ड क्रूज़, मेकमाईट्रिप, ईज़माईट्रिप, टीबीओ.कॉम, रेज़लाइव, ट्रिपजैक, ट्रैवक्लान, अकबर ट्रैवल्स, ट्रैवलबुलज़, माई वैल्यू ट्रैवल, यॉर्कर हॉलीडेज़, वॉव हॉलीडेज़, रेना डेस्टिनेशन मैनेजमेंट, सतगुरु ट्रैवल, फ्लाई24एचआरएस , जीआरएनकनेक्ट, स्टिक ट्रैवल, आर्क ट्रेवल्स, एसटीएस वर्ल्ड, यूरोपियन वॉयेज, रॉयल थाई वेकेशन, वनएबव, फ्लाईरेमिट, साल्विया ट्रेवल्स, सरोवर होटल्स एंड रिसॉर्ट्स, द फर्न होटल्स एंड रिसॉर्ट्स, स्टर्लिंग हॉलीडेज, शेवल कलेक्शन, सूबा होटल्स, उड़ान होटल्स एंड रिसॉर्ट्स , की रिसॉर्ट्स इंटरनेशनल, उदय समुद्र लीज़र बीच होटल, आइलैंड हॉलीडेज़, क्रूज़ कैरट, कुछ प्रमुख प्राइवेट कंपनियां हैं जो वर्तमान संस्करण का हिस्सा हैं।

इस शो ने PATA के साथ भी अपने संबंधों को विस्तार दिया है। इसे हमेशा UFTAA, TAAI, TAFI, IATO, ADTOI, SKAL, ICPB, TOA, ABTO, OTOAI, ATOAI, ETAA जैसे संगठनों से भी अच्छा सपोर्ट मिला है।

भारत में इंफॉर्मा मार्केट्स के प्रबंध निदेशक श्री योगेश मुद्रास ने SATTE 2024 के लिए अपना उत्साह व्यक्त करते हुए कहा, “भारत में ट्रैवल और टूरिज्म इंडस्ट्री ने 2023 में एक ऐसा साल देखा जो अपने में एक मील का पत्थर है। इस अवधि में इस इंडस्ट्री में जोरदार ग्रोथ देखने को मिली और यह इंडस्ट्री लगभग 16.5 लाख करोड़ रुपए की हो गई। इससे इसकी लोकप्रियता का पता चलता। यह इंडस्ट्री देश की अर्थव्यवस्था में अहम भूमिका निभा रही है। खास बात ये है कि भारतीयों के बीच ट्रैवलिंग के ट्रेंड में जोरदार बढ़त हुई है, जिसमें एमआईसीई टूरिज्म भी शामिल है, जिसमें लोकप्रिय, कम-ज्ञात और आध्यात्मिक दोनों स्थलों में लोगों की रुचि बढ़ती दिखी है। यह ट्रेंड अलग-अलग पर्यटन स्थलों के विकास का अवसर पेश करती है और किसी एक जगह भीड़ बढ़ने से जुड़ी चिंताओं का समाधान करती है। इसके अलावा, अप्रैल 2023 से 85 नए क्षेत्रों जुड़े है। सड़क नेटवर्क और हवाई कनेक्टिविटी में व्यापक सुधार हुआ है। परिवहन के बुनियादी ढांचे में हुए इस विकास ने टूर एवं ट्रैवेल इंडस्ट्री के संपूर्ण विकास में पूरक का काम किया है।

उन्होंने आगे कहा “इस बदलते परिवेश में हम SATTE के 31वें संस्करण की घोषणा करते हुए रोमांचित हैं। यह एक ऐसा मंच है जो अपने विविध रणनीतिक गठजोड़, सुविधाओं और रुझानों के साथ, कनेक्शन बनाने, भविष्य के नवाचारों की खोज करने में अहम भूमिका निभाता है। हमें यकीन है कि हमारा यह शो हमारे सभी सम्मानित उपस्थित लोगों के अनुभव को बढ़ाएगा। शो का 2024 संस्करण अब तक का सबसे बड़ा संस्करण है। इसमें सभी स्टेक होल्डरों के असीम उत्साह को समायोजित करने के लिए हॉल 5 और 6 को भी इस्तेमाल किया जा रहा है। ग्राहकों की प्रतिक्रिया के आधार पर 2025 में होने वाला ये शो भारत के सबसे बड़े सम्मेलन और प्रदर्शनी केंद्र, यशोभूमि (इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर), द्वारका, नई दिल्ली में स्थानांतरित हो जाएगा”।

ज्ञान का व्यापक आदान-प्रदान :

SATTE 2024 भारत के तेजी से बढ़ते ट्रैवल इंडस्ट्री के बारे में जानकारी हासिल करने का बेहतरीन मौका प्रदान करता है। यह शो टूरिज्म व्यवसाय के अवसरों का पता लगाने और इंडस्ट्री के उभरते परिदृश्य के बारे में विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए ट्रेवल, टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के पूरे वैल्यू चेन को एक विशाल छतरी के नीचे लाता है।

SATTE के प्रसिद्ध ज्ञान-साझेदारी सत्रों को भी नई ऊंचाइयों पर ले जाया जाएगा। इस वर्ष के सम्मेलन के कुछ विषयों में ‘टूरिज्म: द बैलेंसिंग एक्ट’, ‘वॉयस व्यूज एंड एक्शन’, ‘डिकोडिंग एमआईसीई फॉर बिजनेस एंड करियर अपॉर्च्युनिटीज ‘ , ‘टूरिज्म@2047: अमृतकाल थ्रेडबेयर’; ‘निच अफेयर्स: बिग डॉलर्स’ और ‘रोर ऑफ द माइस’ शामिल हैं। इस सम्मेलन में टूर एंड ट्रेवल इंडस्ट्री का तमाम जानी-मानी हस्तियां शमिल होंगी। ये इस दौरान होने वाले कारोबारी सत्रो का संचालन करेंगे या फिर उसमें बोलेंगे। इन हस्तियों में इंडोनेशिया के टूरिज्म और क्रिएटिव इकोनॉमी मिनिस्ट्री की डिप्टी मार्केटिंग मिनिस्टर जैसे सुश्री नी मेड अयू मार्टिनी, ट्रैवल और टूरिज्म की एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय हस्ती और PATA के सीईओ नूर अहमद हामिद, ट्रैवल एजेंसी इंडस्ट्री के ग्लोबल छत्र संगठन UFTAA के प्रेसीडेंट सुनील कुमार, एडवोकेसी और स्केल इंटरनेशनल में ग्लोबल पॉर्टनरशिप कमिटी के को-चेयर स्टीव रिचर ; साइट ग्लोबल के पूर्व अध्यक्ष राजीव कोहली ; एडम्स जैक्सन एंड एसोसिएट्स के सीईओ गेल एडम्स शामिल हैं। SATTE 2024 सम्मेलन में शामिल होने वाली दूसरी बड़ी हस्तियों में विशाल भाटिया, कंट्री मैनेजर विजिटब्रिटेन; भारत में जर्मन राष्ट्रीय पर्यटन कार्यालय के निदेशक रोमित थियोफिलस; वेलकमहेरिटेज के सीईओ अभिनाश मंघानी; संजय बसु, एमडी, फार होराइजन; रणजीत सिंह परमार, संस्थापक और सीईओ, पैलेसेस ऑफ इंडिया और नरेश रावल, उपाध्यक्ष, सेल्स एंड मार्केटिंग, रिसॉर्ट्स वर्ल्ड क्रूज़ (भारत) जैसे कई और नाम शामिल हैं।

इस सम्मेलन के दौरान आयोजित होने वाले सत्रों में वेलनेस, एडवेंचर और वर्कएक्शन जैसे हर विषय पर चर्चा होगी। इन विषयों पर आपसी संवाद को बढ़ावा देने के लिए कार्यशालाओं, पैनल चर्चाओं और प्रश्नोत्तर सत्रों जैसे इंटरैक्टिव प्रारूपों को अपनाया जाएगा।

आयोजन के पहले की तैयारियां

आयोजन से पहले, SATTE ने सर्कल 31 के साथ टियर 1 और 2 शहरों में व्यापक पहुंच बनाई है। यहां के उभरते पयर्टन स्थलों से जुड़े 31 चुनिंदा लोग हमारे पैनल डिस्कशन का हिस्सा थे। इसके अलावा एसोसिएशन रीच प्रोग्राम के जरिए उभरते पर्यटक केंद्रों से एसोसिएशन के नेटवर्क को बढ़ावा दिया गया। साथ ही ‘SATTE ट्रैवल इनसाइट पॉडकास्ट’ (इंडस्ट्री लीडर्स को मंच देने वाला एक पॉडकास्ट), ‘SATTE कनेक्ट’ (10 शहरों में रोड शो) और ‘GenX 365 क्लिक’ (बिजनेस लीडर उत्पन्न करने के लिए खरीदारों और विक्रेताओं को एक मंच पर लाने के लिए एक नए युग का डिजिटल पोर्टल) ) ने जोरदार हलचल पैदा कर दी है। इस सेक्टर के लिए निरंतर स्किल डेवलपमेंट बहुत महत्वपूर्ण है। इसको ध्यान में रखते हुए SATTE ‘ट्रैवल हॉस्पिटैलिटी सीएसआर पहल’ के तहत 50 छात्रों को वित्तीय सहायता दी गई है और उन्हें टूरिज्म सेक्टर में नौकरियों के लिए प्रशिक्षण दिया गया है। इसके अलावा प्रतिष्ठित ‘SATTE अवार्ड्स’ के तहत इंडस्ट्री में नवाचार और उत्कृष्टता को पहचानने और पुरस्कृत करने का क्रम जारी है।

इन तैयारियों के साथ, SATTE 2024 एक बड़ा, बेहतर और शानदार आयोजन बनने के लिए तैयार है। इसका लक्ष्य भारतीय टूरिज्म इंडस्ट्री में असीमित ऊर्जा का संचार करना है। यह शो अगले साल से यशोभूमि, द्वारका में आयोजित किया जाएगा, जिसका उद्देश्य बड़ी संख्या में प्रदर्शकों और दूसरे तमाम लोगों को शामिल करना है, जिससे दक्षिण एशिया में ट्रैवल और टूरिज्म इंडस्ट्री के लिए एक प्रमुख मंच के रूप में इसकी स्थिति और मजबूत होगी।

SATTE के विषय में

SATTE (साउथ एशियाज ट्रैवल एंड टूरिज्म एक्सचेंज) नेशनल और स्टेट टूरिज्म बोर्ड्स (NTOs and STOs) के साथ देश और दुनिया के टूर, ट्रैवल्स और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय खरीदारों और पेशेवरों को एक व्यापक मंच प्रदान करता है। SATTE को इस इंडस्ट्री के विकास की गति में तेजी लाने के लिए सॉल्यूशन आधारित नवाचारों तक पहुंचने के लिए व्यवसाय संचालित करने, ज्ञान साझा करने, विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए एशिया की अग्रणी ट्रैवल और टूरिज्म प्रदर्शनी के रूप में मान्यता प्राप्त है। SATTE को पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन बोर्ड, भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय ट्रेवल और ट्रेड संघों और संगठनों द्वारा अच्छी तरह से सपोर्ट हासिल है।

Related posts

इंदौर में बोले BJP प्रदेश अध्यक्ष शर्मा, अध्यक्ष पद से हटाने की अटकलों पर दिया ऐसा जवाब…. | BJP state president Sharma said in Indore, gave such an answer on the speculations about his removal from the post of president….

cradmin

उत्तराखंड में पहली बार फोटो फेयर का आयोजन

prabhatchingari

कैबिनेट में लिये गये निर्णय के अनुसार रू0 1/- प्रति बोतल सेस को संशोधित करते हुए रू0 1/- प्रति बोतल अतिरिक्त शुल्क के रूप में आबकारी विभाग द्वारा संग्रह किये जाने का किया जाएगा प्रावधान-रेखा आर्या*

prabhatchingari

यूनिवर्सिटी में पदस्थ कर्मचारियों ने 2 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की दी चेतावनी, परीक्षाएं होंगी प्रभावित | Employees posted in the university warned to go on indefinite strike from June 2, examinations will be affected

cradmin

नशा मुक्त भारत अभियान” का उत्तराखंड में शुभारम्भ किया

prabhatchingari

मुर्शिदाबाद की 47 वर्ष महिला का स्वास्थ्य साथी के तहत जन्मजात हृदय विसंगति का इलाज किया जाता है

prabhatchingari

Leave a Comment