Prabhat Chingari
अपराधउत्तराखंड

लोकसभा चुनाव व सम्भावित भराडीसैण विधानसभा बजट सत्र की तैयारियों के दृष्टिगत महत्वपूर्ण बैठक

Advertisement

पुलिस अधीक्षक चमोली द्वारा ली गयी अपराध गोष्ठी/मासिक सम्मेलन।
चमोली (प्रदीप लाखेड़ा की रिपोर्ट)
आगामी लोकसभा चुनाव एवं सम्भावित भराडीसैण विधानसभा बजट सत्र की तैयारियों के दृष्टिगत दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश।

पुलिस अधीक्षक चमोली श्रीमती रेखा यादव (IPS) महोदया द्वारा पुलिस लाईन गोपेश्वर स्थित सभागार में आज दिनाँक 10 फरवरी 2024 को समस्त कोतवाली/थाना/चौकी प्रभारियों, स्थानीय अभिसूचना इकाई, फायर सर्विस, दूरसंचार एवं अन्य शाखा प्रभारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी का आयोजित कर मासिक अपराधों की समीक्षा की गयी। तत्पश्चात सभी थाना प्रभारियों को कानून एवं शांति व्यवस्था के दृष्टिगत आवश्यक दिशा-निर्देश निर्गत करते हुए लोकसभा चुनाव तथा सम्भावित विधानसभा बजट सत्र के दृष्टिगत आवश्यक सभी व्यवस्थायें समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए-

गोष्ठी के दौरान सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रत्येक थानों/शाखाओं से आये सभी कर्मचारियों का सम्मेलन लेकर उनकी समस्यायें पूछी गई कर्मचारियों द्वारा बताई गई समस्या का निराकरण किया गया। महोदया द्वारा कहा गया की पुलिस बल का कल्याण सर्वोपरि है। जितना सम्भव हो सकेगा प्रत्येक पुलिस कर्मी की समस्या का निराकरण किये जाने हेतु हर स्तर पर प्रयास किया जायेगा। तत्पश्चात महोदया द्वारा पूर्व माह में अपराध गोष्ठी में दिये गये दिशा निर्देशों की समीक्षा की गयी।

भराडीसैंण में सम्भावित विधानसभा सत्र के दौरान सुरक्षा के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाने तथा अन्य सम्बन्धित विभागों से समन्वय स्थापित करते हुए सत्र के संबंध में सभी अनिवार्य व्यवस्थाओं की तैयारियों को समय से पूरा करने हेतु निर्देशित किया गया।

अभिसूचना ईकाई एवं समस्त थानाध्यक्षों को विधानसभा सत्र के दौरान विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा उठाए जाने वाले स्थानीय मुद्दों, जुलूस प्रदर्शन आदि के संबंध में सूचनाएं एकत्रित कर समय से उनकी रिपोर्ट तैयार करने हेतु दिशा-निर्देश दिए गए।

सभी राजपत्रित अधिकारियों तथा थानाध्यक्षों को आगामी लोकसभा चुनावों के दृष्टिगत अपने क्षेत्र में भ्रमणशील रहने व संवेदनशील मुद्दों पर सतर्क दृष्टि बनाये रखने तथा मतदान केन्द्रों को भ्रमण कर समय से उनकी संवेदनशीलता का आंकलन सुनिश्चित करने के दिए गए निर्देश।

समस्त थाना प्रभारियों को चुनावों के दौरान शान्ति एवं कानून व्यवस्था भंग करने वाले आपराधिक प्रवृत्ति एवं अराजक तत्वों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध समय से 110 (जी), 107/116 सीआरपीसी, गुंडा/गैंगेस्टर एक्ट के तहत प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही करने के दिये निर्देश।

आगामी लोकसभा चुनावों के दृष्टिगत ई-बीट बुक को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करने तथा सभी बीट आरक्षी व हल्का प्रभारियों को उनके क्षेत्र में भ्रमण का विवरण ऑनलाइन अद्यावधिक किये जाने के निर्देश दिये गये।

फायर सीजन शीघ्र प्रारम्भ हो जायेगा जिसके संबंध में तैयारी हालात में रहने, वन विभाग से समन्वय बनाये रखने/आवश्यक सहयोग करने तथा जहाँ पर आवश्यकता हो वहां पर फायर टेंडर नियुक्त किये जाने हेतु अग्निशमन अधिकारी को निर्देशित किया गया व अग्नि दुर्घटना की सूचना पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।

सोशल मीडिया एवं मॉनिटरिंग सैल को सोशल मीडिया पर निरन्तर कड़ी निगरानी रखने तथा अफवाह फैलाकर साम्प्रदायिक सौहार्द प्रभावित करने वालों के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

थानों में लम्बित शिकायती प्रार्थना पत्रों तथा सम्मन/वारंट/नोटिस का समय पर निस्तारण किये जाने, अभियोगों में वांछित अभियुक्तों धरपकड़ हेतु चलाए जा रहे अभियान को और अधिक प्रभावी बनाते हुए अधिक से अधिक गिरफ्तारी किये जाने हेतु कड़े निर्देश दिये गये।

लम्बित विवेचनाओं का थानावार, एवं विवेचकवार समीक्षा की गई व विवेचनाओं का गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किये जाने के दिशा-निर्देश दिए गये साथ ही पुलिस उपाधीक्षकों को थानों में प्रचलित लंबित विवेचनाओं का नियमित रूप में आदेश कक्ष लेकर सफल निस्तारण करवाने किए जाने हेतु निर्दशित किया गया।
साइबर अपराधों के प्रति जागरूकता अभियान चलाकर “online खरीदारी अथवा ट्रांजेक्शन” के समय की जाने वाली छोटी-बड़ी गलतियों, अनजान लिंक एवं साइबर अपराध के बारे में जानकारी देते हुए आमजनमानस को जागरूक करने तथा शिकायत प्राप्त होने पर तत्काल अभियोग पंजीकृत करने के निर्देश दिए गए।

मा0 मुख्यमंत्री, उत्तराखण्ड़ के “ड्रग फ्री देवभूमि 2025” के विजन को साकार करने हेतु अवैध शराब एवं ड्रग्स (चरस, अफीम, स्मैक आदि) की बिक्री पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाने तथा मादक पदार्थ बिक्री व सप्लाई करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध आबकारी अधिनियम व एनडीपीएस एक्ट कठोर कार्यवाही की जाये साथ ही नशे के विरूद्ध जनसहभागिता बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाय।

एनडीपीएस एक्ट के मामलों अभियुक्तों गिरफ्तारी के दौरान नियमानुसार विडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी करने के दिशा-निर्देश दिए गए।

Related posts

शहरी विकास व आवास मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने आईएसबीटी का किया निरीक्षण।

prabhatchingari

पोखरी मोटर मार्ग की बदहाली को लेकर आक्रोश थमने का नाम नही ले रहा

prabhatchingari

उत्तरांचल प्रेस क्लब ने किया अजय गौतम अंतर क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन

prabhatchingari

शिवपुरी के पास मोटरसाइकिल सवार हुआ दुर्घटनाग्रस्त, SDRF ने किया सकुशल रेस्क्यू

prabhatchingari

जनपद रुद्रप्रयाग – मध्यप्रदेश से आये यात्री नदी में फंसे, SDRF ने किया सकुशल रेस्क्य*

prabhatchingari

कांगड़ा पुल के पास डूबते कांवड़िये के लिए देवदूत बना SDRF जवान।

prabhatchingari

Leave a Comment