Prabhat Chingari
धर्म–संस्कृति

वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिज़ाइन (डब्ल्यूडी) उत्तराखंड के विद्यार्थियों से आवेदन आमंत्रित करती है जो संगीत और नृत्य में पढ़ाई करना चाहते हैं।

देहरादून-: वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ़ डिज़ाइन (WUD) ने अपने स्कूल ऑफ़ परफॉर्मिंग आर्ट्स के लिए छात्रों के आवेदन 31 जुलाई, 2024 तक स्वीकार करने की घोषणा की है। छात्रों को उपलब्ध कराए जाने वाले कार्यक्रमों में बैचलर इन परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स (BPA), मास्टर इन परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स (MPA), तथा डांस एवं म्यूजिक में डॉक्टर ऑफ़ फिलॉसफी (PhD) शामिल हैं। छात्रों के लिए योग्यता के आधार पर छात्रवृत्तियाँ भी उपलब्ध हैं जो शैक्षणिक शुल्क के एक हिस्से को कवर करती हैं। छात्रवृत्ति के लिए चयन की कसौटी WUD की प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन के साथ-साथ संबंधित क्षेत्र में शैक्षणिक योग्यता पर आधारित है। विभिन्न रचनात्मक क्षेत्रों में परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स में शिक्षा के व्यापक अवसरों के दायरे को बढ़ाने के लिए स्कूल ऑफ़ परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स ने यूनिवर्सिटी ऑफ़ विनचेस्टर के साथ भी साझेदारी की है।

यूनिवर्सिटी उत्तराखंड के छात्रों का स्वागत करने के लिए तैयार है, ताकि उन्हें परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स के लिए अपने जुनून को आगे बढ़ाने और इसे स्थायी करियर में बदलने के महत्वपूर्ण अवसर प्रदान किए जा सकें। उत्तराखंड हिमालय की गोद में बसा है, तथा नृत्य एवं संगीत से जुड़ी इसकी सांस्कृतिक विरासत काफी समृद्ध रही है। छोलिया और लंगवीर नृत्य जैसे पारंपरिक नृत्यों के साथ-साथ झोड़ा और बराड़ा नाटी जैसे लोक-नृत्य यहाँ के सामुदायिक जीवन का सबसे अहम हिस्सा हैं। इस क्षेत्र में संगीत काफी विविधतापूर्ण रहा है जिनमें बसंती और मंगल गीत जैसे लोक गीत शामिल हैं, जिन्हें ढोल और दमाऊ जैसे पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ प्रस्तुत किया जाता है, साथ ही भक्ति भजन इसकी सांस्कृतिक समृद्धि को बढ़ाते हैं। हालाँकि, अक्सर इस प्रदेश के होनहार लोगों को संगीत एवं नृत्य के प्रति अपने जुनून को पेशे के रूप में आगे बढ़ाने के लिए बहुत कम अवसर मिलते हैं। संस्थान की ओर से छात्रों देश के लिए उपलब्ध कराए जाने वाले ये कार्यक्रम उन्हें परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स के लिए अपने उत्साह को आगे बढ़ाने का एक मूल्यवान अवसर प्रदान करते हैं।

इच्छुक उम्मीदवार यूनिवर्सिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन पत्र भर सकते हैं। इस प्रक्रिया में एक योग्यता परीक्षा और उसके बाद छात्र का व्यक्तिगत साक्षात्कार शामिल है, जिसमें आवेदक अपने प्रदर्शन का वीडियो प्रस्तुत कर सकते हैं। सफल अभ्यर्थियों को ई-मेल के ज़रिये प्रवेश के लिए स्वीकृति पत्र भेजा जाएगा, जिसमें शुल्क का विवरण, छात्रावास की व्यवस्था और कक्षा आरंभ होने की तिथियों के बारे में जानकारी मौजूद होगी। यूनिवर्सिटी के परिसर में निजी तौर पर उपस्थित होकर सभी दस्तावेजों के सत्यापन तथा शुल्क के भुगतान के बाद छात्रों को अंतिम प्रवेश मिलता है।

सभी पाठ्यक्रमों के लिए छात्रों की योग्यता के मानदंड अलग-अलग हैं। BPA डांस/म्यूजिक के आवेदकों के लिए माध्यमिक शिक्षा (12वीं कक्षा या समकक्ष) की पढ़ाई पूरी करना आवश्यक है। MPA डांस/म्यूजिक के आवेदकों के पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए, साथ ही उनके पास डांस/म्यूजिक में कम-से-कम पाँच साल का औपचारिक प्रशिक्षण होना चाहिए। PhD के आवेदकों के लिए न्यूनतम 55% अंकों के साथ मास्टर डिग्री आवश्यक है, जिसमें यूजीसी मानदंडों के अनुसार छूट दी जाती है।

WUD का स्कूल ऑफ़ परफॉर्मिंग आर्ट्स प्राचीन भारतीय दर्शन पर आधारित है, जो बहुविषयक शिक्षा पर जोर देते हुए नृत्य और संगीत में सैद्धांतिक शिक्षा एवं अभ्यास का शानदार अवसर प्रदान करता है। यह पाठ्यक्रम छात्रों को परफ़ॉर्मेंस, कोरियोग्राफी तथा प्रोडक्शन में आलोचनात्मक सोच, सांस्कृतिक प्रबंधन और व्यावहारिक विशेषज्ञता को विकसित करके उन्हें मनोरंजन, कॉर्पोरेट और अन्य प्रगतिशील क्षेत्रों में करियर के लिए तैयार करता है।

इस अवसर पर वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ़ डिज़ाइन के वाइस-चांसलर, डॉ. संजय गुप्ता ने भावी छात्रों के बारे में चर्चा करते हुए कहा, “वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ़ डिज़ाइन के स्कूल ऑफ़ परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स (SoPA) में, हम बड़ी उत्सुकता के साथ उत्तराखंड से आवेदकों को आमंत्रित कर रहे हैं, और यह राज्य पूरे देश में अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए मशहूर है। एक प्रोफेशनल के तौर पर संगीत एवं नृत्य के प्रति अपने जुनून को आगे बढ़ाने के लिए, अक्सर इस प्रदेश के प्रतिभाशाली लोगों के पास सीमित साधन उपलब्ध हैं। ये कार्यक्रम छात्रों को अवसर प्रदान करने के मामले में प्रकाशस्तम्भ की तरह हैं, जिससे छात्रों को परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स के प्रति अपने जुनून को आगे बढ़ाने में मदद मिलती है। हमारे कार्यक्रम कला से संबंधित अलग-अलग पद्धतियों, टेक्नोलॉजी और रिसर्च को एक-साथ मिलाकर तैयार किए गए अभिनव पाठ्यक्रमों के ज़रिये परफ़ॉर्मिंग आर्ट्स की शिक्षा में बड़ा बदलाव ला रहे हैं। प्राचीन भारतीय दर्शन पर आधारित हमारा पाठ्यक्रम, आज के लगातार बदलते कला के क्षेत्र में छात्रों को सक्षम बनाने वाले जरूरी कौशलों का एक मिला-जुला रूप है, जिसमें नृत्य और संगीत के सैद्धांतिक और प्रायोगिक पहलुओं को शामिल किया गया है। हम स्नातक करने वाले छात्रों में रचनात्मकता, आलोचनात्मक सोच और नेतृत्व कौशल को विकसित करते हुए उन्हें मनोरंजन, कॉर्पोरेट और अन्य प्रगतिशील क्षेत्रों में शानदार करियर के लिए तैयार करते हैं।”

आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई, 2024 है। इस बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने और आवेदन करने के लिए, वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ़ डिज़ाइन एप्लीकेशन पोर्टल पर जाएँ।

Related posts

श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति ने एक सौ सोलह करोड़ का बजट पारित किया।

prabhatchingari

कल से प्रारंभ हिंदू नूतन वर्ष नव संवत्सर 2081 और चैत्र नवरात्रि

prabhatchingari

जोशीमठ स्थित नृसिंह मंदिर में नृसिंह जयंती धूमधाम से मनाई गई*

prabhatchingari

भादों महीने की संग्राद मे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी ने टेका मत्था, गुरु साहिब जी का लिया आशीर्वाद।

prabhatchingari

संत लवदास महाराज ने किया लोकार्पण*

prabhatchingari

पुलिस अधीक्षक चमोली ने किया श्री बद्रीनाथ यात्रा मार्ग का निरीक्षण, बर्फीले मार्ग को पैदल पार कर टीम सहित पहुँचे श्री बद्रीनाथ धाम

prabhatchingari

Leave a Comment